Manav Ekta Diwas: April 24, 2020

Manav Ekta Diwas: April 24, 2020

As we are all aware, that 24th April is observed every year as Manav Ekta Diwas in Sant Nirankari Mission.

On this day in 1980, Baba Gurbachan Singh Ji laid his life for the sake of Truth and Humanity. His ardent disciple, Chacha Pratap Singh Ji also sacrificed his physical form along with Babaji.

Babaji blessed devotees from all walks of life in various parts of the world. The entire Mission remembers different dimensions of his teachings and contributions on this day.

The present conditions of the world require us to stay at home and spend our time in mindful remembrance of Satguru & Nirankar.
Looking at the present scenario, following guidelines are being advised:

1. Since regular satsangs and samagams are not being held currently, a special Manav Ekta Satsang Program will be uploaded by Sant Nirankari Mandal on its website and Mission's YouTube channel on the 24th of April. This will enable saints from across the world to watch and listen the blissful speeches, hymns and poems of saints along with the divine blessings of HH Mata Sudiksha Ji Maharaj.

2. In the present week, we should all make it a point to share the life and teachings of Baba Gurbachan Singh Ji during our online interaction with other fellow devotees.

3. We have to follow the instructions and guidelines for Online Discussions, as referred to, in previous messages.

Let us pray in the lotus feet of Satguru, that we are able to follow her teachings and directions with dignity and humility, on our path of devotion.

 

जैसा कि हम सब जानते हैं, कि पिछले कई वर्षों से हर वर्ष 24 अप्रैल का दिन 'मानव एकता दिवस' के रूप में आयोजित किया जाता है।

24 अप्रेल सन 1980 को बाबा गुरबचन सिंह जी महाराज ने मानवता की स्थापना के लिए अपने शरीर को भी कुर्बान कर दिया। बाबा जी के साथ ही उनके अनन्य भक्त चाचा प्रताप सिंह जी ने भी अपने प्राणों की आहुति दी। इस दिन हम बाबा गुरबचन सिंह जी की मानवता के प्रति इस महान देन को याद करते है। उनके महान जीवन के अनेक पहलुओं पर चर्चा भी करते हैं और अपने लिए प्रेरणा भी प्राप्त करते है। उन्होंने भारत के साथ-साथ विश्व के अनेक देशों में जाकर अनेक लोगों को सत्य का ज्ञान प्रदान किया और वहीं मानव समाज के उत्थान के लिए भी अनेक कार्य किए।

आज पूरे विश्व में लॉक डाऊन की स्थिति में हम सब अपने अपने घरों में हैं, किंतु आप सभी संत महात्मा इसको भी इस निराकार का भाणा मानकर इसकी रज़ा में रहकर भक्ति कर रहे हैं।

मौजूदा हालात और परिस्थितियों के मद्देनजर आप सभी महात्माओं के चरणों में निम्नलिखित प्रार्थनाएं की जा रही हैं:

1. चूंकि वर्तमान परिस्थतियों में नियमित रूप से सत्संग व समागम आयोजित नहीं हो पा रहे हैं, इसलिए निरंकारी मंडल द्वारा एक विशेष समागम मानव एकता दिवस के अवसर पर मिशन की वेबसाइट और मिशन के YouTube channel पर शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020 को अपलोड कर दिया जाएगा। दुनिया भर में रह रहे सभी निरंकारी भक्त इस कार्यक्रम को देखकर मानव एकता दिवस पर विश्व भर के संत महात्माओं के प्रवचन, गीत और कविताएं सुन पाएंगे और सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज से प्रवचनों द्वारा आशीर्वाद भी प्राप्त कर पाएंगे।

2. इस सप्ताह में सोमवार से रविवार तक हम जो online भक्ति/गुरमत चर्चा कर रहे हैं, उसमें बाबा गुरुबचन सिंह जी के परोपकारी जीवन पर आधारित चर्चा करें।

3. Online सत्संग की जो रूप रेखा सतगुरू के आदेश से हम तक पहुंचाई गई है और आगे भी पहुंचाई जाती रहेगी, उसी का अनुपालन करना हर गुरसिख का कर्तव्य है।

सतगुरु के पावन चरणों में यही अरदास है कि हम पूरी मर्यादा में रहकर सतगुरू के दिशा निर्देश के अनुसार अपनी भक्ति को निभा पाएं।


प्रचार विभाग
सन्त निरंकारी मण्डल